सबसे प्रमुख सरकारी बैंक (SBI)ने चौंकाने वाला कदम उठाया, लोन को महँगा बना दिया, कृपया देखें कि ब्याज दर कितना बढ़ी है

Rate this post

एसबीआई ने अधिकांश टेनयोर पर 5 से 10 बेसिस पॉइंट्स की वृद्धि की है. आज, यानी 15 दिसंबर से, नए दरें प्रभावी हो गई हैं.

सरकारी बैंक STATE BANK OF INDIA (SBI)

ने अपने विश्वसनीय ग्राहकों को प्रशंसादायक आकर्षण देने के लिए उत्साहजनक कदम उठाया है। वे लेंडिंग रेट्स में सावधानी पूर्वक बढ़ोतरी करके मार्केट में स्थिरता और विश्वसनीयता के माध्यम से उच्च दर सुनिश्चित करना चाहते हैं। यह अभियान 15 दिसंबर 2022 (आज) शुरू हो गया है और एसबीआई ने अपने बहुसंख्यक उदार उपायों के माध्यम से अपने टेनयोर पर 5 से 10 बेसिस पॉइंट्स की वृद्धि की है। जबकि यह उच्च दर एक ध्यानदेने योग्य चुनौती है, तो प्रमोचित उत्तेजना प्राप्त करने वाले ग्राहकों के लिए यह अवसर भी मजबूती है।

एसबीआई के एमसीएलआर दरें क्या हैं?

ग्राहकों को ध्यान में रखना होगा कि MCLR यानी मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट में वृद्धि से होम लोन और ऑटो लोन महंगा होगा। लोन लेने जा रहे ग्राहकों को इस बढ़ती दर पर लोन लेना होगा और पहले से ही लोन चुकाने वालों को आगे की किश्तें भरनी होंगी।

वर्तमान में, ओवरनाइट टेन्योर पर मौजूदा दर 8 प्रतिशत है, जो बहुत ही आकर्षक है. साथ ही, सभी टेन्योर पर 5 से 10 बेसिस पॉइंट की वृद्धि हुई है. एक महीने के टेन्योर पर 8.20 प्रतिशत, तीन महीने के टेन्योर पर 8.20 प्रतिशत, छह महीने के टेन्योर पर 8.55 प्रतिशत, एक वर्ष में 8.65 प्रतिशत, दो साल के टेन्योर पर 8.75 प्रतिशत और तीन साल के टेन्योर पर 8.85 प्रतिशत की दरें लागू हैं. ये अद्यतित दरें हैं और आपको आज ही उन्हें लाभकारी होना चाहिए.

TenorExisting MCLR (In %)Revised MCLR (In %)
Over night8.008.00
One Month8.158.20
Three Month8.158.20
Six Month8.458.55
One Year8.558.65
Two Year8.658.75
Three Year8.758.85
Rates

ग्राहकों को ध्यान में रखना होगा कि MCLR यानी मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट में वृद्धि से होम लोन और ऑटो लोन महंगा होगा। लोन लेने जा रहे ग्राहकों को इस बढ़ती दर पर लोन लेना होगा और पहले से ही लोन चुकाने वालों को आगे की किश्तें भरनी होंगी।

Leave a Comment